Salaam Baalak Trust

By February 4, 2016Events

प्रिंस, कैलाश, राजकुमार, अनुरंजन, महेश, ओम सिंह, मुन्ना, चांद। ये सारे बच्चे मेरे नए दोस्त हैं। किसी की उम्र मुझसे करीब आधी है, किसी की चौथाई। कोई मेरे कंधे तक पहुंचता है, कोई कमर तक। इनमें से किसी को अपना शहर, अपना घर याद है, किसी को नहीं। किसी को अपने मां-बाप का नाम याद है, कोई भूल गया, कुछ तो ऐसे हैं जिन्होंने अपने मां-बाप को देखा ही नहीं। कोई छूट गया, कोई छोड़ गया, कोई छुड़ाया गया। इनमें से कुछ ऐसे भी थे जो बचपन से ही बुरी लतों का शिकार हो गए थे, नशा करने लगे थे। हर बच्चे की अपनी एक कहानी है और हर बच्चा अपने आप में एक कहानी है। Salaam Baalak Trust इन बच्चों की देखभाल करता है, इन नेक काम के लिए उन्हें सलाम।

इन बच्चों की अपनी कहानी में एक छोटा सा किरदार बनने की कोशिश Raaggiri ने भी की है। 30 तारीख को LTG Auditorium वाले इवेंट में इन बच्चों को हमने खास तौर पर Lightning the Lamp Ceremony के लिए बुलाया। बच्चों को देर हो गई और कार्यक्रम शुरू करना पड़ा। Raaggiri ने इन प्यारे प्यारे बच्चों के लिए T-Shirts तैयार कराई थीं, तो उन्हें देकर आया। रंग बिरंगी T-Shirts में बच्चे चमक रहे थे। कुछ बच्चों की साइज़ से बड़ी थी T-Shirt लेकिन जो रंग उन्हें पसंद आ गया वो उनका, फटाफट टी-शर्ट को पैंट में खोंस कर कर तैयार, अंकल एक फोटो खींच दीजिए हम सबकी। God Bless You All, Salute to Salam Balak Trust. इनसे वायदा करके आया हूं कि जल्दी ही फिर मिलेंगे, इस बार इन्हें RAAGGIRI का मतलब समझाऊंगा।

Leave a Reply